Category: पर्वत-पुकार

March 6, 2014 pcadm 1 0

‘ना वो सब मद्रासी हैं, ना हम सब चिंकी’

पूर्वोत्तर भारत इन दिनों सुर्ख़ियों में ज़रूर है लेकिन इसके बावजूद भारत के अन्य राज्यों में इस क्षेत्र के बारे में न तो अधिक जानकारी है और न ही जानने की इच्छा. राजधानी दिल्ली के नेताओं और लोगों के लिए पूर्वोत्तर राज्य, दिल्ली से काफी दूर हैं. इसी तरह से…

Read More

October 20, 2013 pcadm 0

सिमट रही है गंगा की धारा

गंगा इन दिनों अजीब विरोधाभासों का सामना कर रही है। एक ओर पहाड़ों में बर्फबारी हो रही है, वहीं दूसरी ओर टिहरी में बनाये गये भीमकाय बाँध के प्रबंधकों ने अधिक पानी रोककर जलधारा को पहले से भी सीमित कर दिया है। ठंड बढ़ने के साथ ही पहाड़ों में बर्फबारी…

Read More

May 16, 2013 pcadm 0

लद्दाख में अब गंदगी का साम्राज्य

देश के चुनिंदा पर्यटन स्थलों में लद्दाख का एक अलग ही स्थान है। अन्य पर्यटन स्थलों की तुलना में ये इसलिए अलग है क्योंकि दूसरे पर्यटन स्थलों पर लोग जहां केवल प्रकृति की अनुपम सुंदरता के दर्शन करते हैं वहीं लद्दाख में उन्हें प्रकृति के साथ-साथ इंसानी जीवनशैली भी आकर्षित…

Read More

April 23, 2013 pcadm 0

तालिबान के दुश्मन ड्रोन असम में गैंडों को बचाएंगे

पाक-अफगान सीमा पर तालिबान के दांत खट्टे करने वाले मानवरहित छोटे ड्रोन विमान अब असम में काजीरंगा के गैंडों की निगरानी करेंगे। अब शिकारी गैंडों का शिकार तो दूर काजीरंगा में फटकते भी पाए गए तो नेशनल पार्क के रेंजर उन्हें धर दबोचेंगे। पिछले कुछ महीनों में कई गैंडों के…

Read More

January 5, 2013 pcadm 0

प्रोजेक्टों की भेंट चढ़े ठंडे जायरू

एजेंसी. कुल्लू।  हाइडल॒ प्रोजेक्टों के हब के रूप में तेजी से पहचान बनाती जा रही कुल्लू घाटी में विद्युत क्रांति के मिले जुले॒ प्रभाव देखने को मिले हैं। विकट भौगोलिक स्थिति वाले इस इलाके में बिजली परियोजनाओं के अस्तित्व में आने से विकास ने एकाएक रफ्तार पकड़ ली है। लेकिन,…

Read More

November 4, 2012 pcadm 0

अलकनंदा: निर्जल हुई नदी

गोपेश्वर, एक तरफ अपनों के खोने गम तो दूसरी तरफ उसके शवदाह की चिंता। घंटो इंतजारी के बाद संदेशा आता है कि नदी में कुछ समय के लिये पानी बढ़ा दिया गया है। शवदाह की रस्म पूरा करें। तब जाकर कहीं नदी किनारे शवदाह की रस्म पूरी हो पाती है।…

Read More

October 27, 2012 pcadm 0

कहीं दक्षिण अफ्रीका न बन जाए काजीरंगा

असम का काजीरंगा नेशनल पार्क भी अब दक्षिण अफ्रीका की राह पर है। इस साल अब तक काजीरंगा अपने 40 गैंडों से हाथ धो चुका है। इनमें से 12 का शिकार हुआ जबकि 28 बाढ़ में मारे गए। वहीं, दक्षिण अफ्रीका में पिछले 10 महीनों में 450 गैंडों का शिकार…

Read More

December 12, 2011 pcadm 0

बूढ़ा होता हिमालय

गोपेश्वर। हिमालयी क्षेत्रों में निर्माणाधीन जल विद्युत परियोजनाओं का हिमालय पर असर पड़ रहा है। अक्सर देखा जा रहा है कि पूर्व में किए गए सर्वे को दरकिनार कर परियोजनाओं का निर्माण किया जा रहा है, जो हिमालय के लिए खतरा बन सकता है। यह कहना है डिपार्टमेंट ऑफ एटमिक…

Read More

August 22, 2011 pcadm 0

पहाड़ी राज्यों पर मंडराता खतरा

देश के पहाड़ी राज्यों, खासकर उत्तराखंड और हिमाचल प्रदेश में आजकल जल विद्युत परियोजनाओं की जैसे भरमार हो गई है. इस समय केवल उत्तराखंड में पांच सौ से अधिक राष्ट्रीय एवं बहुराष्ट्रीय कम्पनियों की परियोजनाओं पर कार्य चल रहा है. इन सभी परियोजनाओं को उत्तराखंड सरकार की पूर्ण मंजूरी के…

Read More

May 19, 2011 pcadm 0

हिमालय की पुकार

ग्लोबल वार्मिंग से प्रभावित हिमालय वैश्विक तापमान वृद्धि का हिमालय पर पड़ने वाला प्रभाव स्पष्ट दिखाई देने लगा है। अब मध्य हिमालय की पहाड़ियों पर हिमपात नहीं होता। टिहरी के सामने प्रताप नगर की पहाड़ियों और उससे जुड़ी हुई खैर पर्वतमाला पर अब बर्फ नहीं दिखाई देती। यही नहीं, भागीरथी…

Read More